Wp/anp/राजभाषा

< Wp‎ | anp
Wp > anp > राजभाषा

राजभाषा क शाब्दिक अर्थ - राज काज क भाषा छेकै संविधान मँ "राजभाषा" आरू "राजभाषा सिनी" शब्दे क प्रयोग होलौ छै। "राष्ट्रभाषा" क उल्लेख संविधान मँ नाय छै। अष्टम अनुसूचीयो मँ भाषा सिनी क राज्य क राजभाषा कहलौ गेलौ छै। राष्ट्रभाषा शब्द क सब्भे अपनौ मतलब निकालै छै। कहींयो एकरौ अधिकारिक परिभाषा नाय छै।

राजभाषा के रूपEdit

इ बोली, विभाषा आरू भाषा क मौलिक अन्तर बताय पाना कठिन छै, केन्हं की इ मुख्यतया अन्तर व्यवहार-क्षेत्र केरौ विस्तार प निर्भर छै। वैयक्तिक विविधता केरौ चलते एगो समाज मँ चलै वाला एक्केगो भाषा के ढेरी रूप छै। मुख्य रूप सँ भाषा के इ रूप क हम्मँ सिनी देखै छी।

बोलीEdit

बोली भाषा क छोटौ इकाई छेकै। एकरौ सम्बन्ध ग्राम या मण्डल सँ रहै छै। एकरा मँ प्रधानता व्यक्तिगत बोली क रहै चाही आरू देशज शब्द तथा घरेलू शब्दावली क बाहुल्य होय छै।


विभाषाEdit

विभाषा क क्षेत्र बोली क अपेक्षा विस्तृत होय छै इ एगो प्रान्त या उपप्रान्त मँ प्रचलित होय छै। एगो विभाषा मँ स्थानीय भेद केरौ आधार प ढेरी बोली सिनी प्रचलित रहै छै। विभाषा में साहित्यिक रचनाएँ मिल सकती हैं।

भाषाEdit

भाषा अथवा कहौ परिनिष्ठित भाषा या आदर्श भाषा, विभाषा क विकसित स्थिति छेकै। एकरा राष्ट्र-भाषा या टकसाली-भाषा भी कहलौ जाय छै।

एकरो देखौEdit

बाहरी कड़ियाँEdit