Wp/anp/अराजकता

< Wp‎ | anp
Wp > anp > अराजकता

अराजकता एगो एहनौ आदर्श छेकै जकरौ सिद्धांत छेकै अराजकतावाद। अराजकतावाद व्यक्ति, समूह आरो राष्ट्र केरौ बीच स्वतन्त्र आरो सहज सहयोग सँ राज्य केरौ समाप्त करै आरो सब मानवीय संबंध मँ न्याय स्थापित करै केरौ प्रयास के सिद्धांत छेकै। अराजकतावाद के अनुसार कार्य केरौ स्वतंत्रता जीवन के एगो गतिशील नियम छेकै आरू यही वजह स॑ एकरऽ उद्देश्य सामाजिक संगठन छै कि व्यक्ति के काम के स्वतंत्रता के अधिकतम अवसर उपलब्ध कराबै के छै। मानव स्वभाव में आत्म-नियमन केरऽ ऐन्हऽ शक्ति छै जे बाहरी नियंत्रण स॑ मुक्त होय क॑ आसानी स॑ व्यवस्था स्थापित करी सकै छै। मनुष्य प अनुशासन थोपै क सामाजि क आरो नैतिक कुरीति क जनक छेकै। यहा ल हिंसा प निर्भर राज्य आरो ओकरौ अन्य संस्था यही दुष्टता के दूर नाय करै सकै छै। मनुष्य स्वाभाविके अच्छा छै, एखनी ई संस्थासिनी लोगौ क भ्रष्ट करै छै। बाहरी नियंत्रण सं मुक्त, वास्तविक स्वतंत्रता के सहकारी जीवन मुख्य रूप सं छोटौ समूह क माध्यम सं संभव छै; यहा ल सामाजिक संगठनक आदर्श संघीयतावादी छेकै।

एकरो देखौEdit

बाहरी कड़ीEdit

संदर्भEdit